23 अगस्त से छठी से आठवीं तक और एक सितंबर से कक्षा एक से पांचवीं तक के स्कूल भी खुलेंगे : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

i-stock

सोमवार से स्कूलों के खुलने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम 9 के साथ हुई बैठक में कहा कि रक्षाबंधन के बाद 23 अगस्त से छठी से आठवीं तक और एक सितंबर से कक्षा एक से पांचवीं तक के स्कूल भी शुरू किए जाएं। उन्होंने इस संबंध में अफसरों को दिशा-निर्देश जारी करने का आदेश दिया है।

बता दें कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर से संक्रमण के मामलों हुई कमी के बाद विभिन्न राज्यों में जहां स्कूलों को सीनियर कक्षाओं के लिए पहले ही खोला जा चुका है तो वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश में माध्यमिक कक्षाओं के लिए स्कूलों को आज, 16 अगस्त 2021 से खोला जा रहा है। उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा कक्षा 9 से कक्षा 12 तक के छात्र-छात्राओं के लिए राज्य के सभी शासकीय और निजी विद्यालयों को खोले जाने के लिए शासनादेश 2 अगस्त 2021 को ही जारी कर दिया गया था। इसके अनुसार छात्रहित, सत्र को नियमित करने और छात्रों का शिक्षण कार्य सुनिश्चित किये जाने के उद्देश्यों के लिए कोविड-19 प्रोटोकाल पालन करते हुए राज्य के स्कूलों में शिक्षण कार्य आज से शुरू किये जाएंगे। इसके साथ ही, विभाग ने स्टूडेंट्स और पैरेंट्स के साथ-साथ स्कूलों के लिए को कई दिशा-निर्देशों जारी किये हैं, जिनका पालन करना सभी के अनिवार्य होगा।

सोमवार से स्कूलों के खुलने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम 9 के साथ हुई बैठक में कहा कि रक्षाबंधन के बाद 23 अगस्त से छठी से आठवीं तक और एक सितंबर से कक्षा एक से पांचवीं तक के स्कूल भी शुरू किए जाएं। उन्होंने इस संबंध में अफसरों को दिशा-निर्देश जारी करने का आदेश दिया है। मुख्यमंत्री योगी ने बैठक में कहा कि सतत प्रयासों से कोरोना की दूसरी लहर पर बने प्रभावी नियंत्रण के साथ-साथ जनजीवन तेजी से सामान्य हो रहा है।

आज प्रदेश के 17 जनपदों (अलीगढ़, अमेठी, बलिया, बांदा, बहराइच, बिजनौर, चित्रकूट, देवरिया, फर्रुखाबाद, फिरोजाबाद, हरदोई, हाथरस, कासगंज, कौशाम्बी, महोबा, संतकबीरनगर और शामली) में कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। यह जनपद आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं। औसतन हर दिन ढाई लाख से अधिक टेस्ट हो रहें हैं, जबकि पॉजिटिविटी दर 0.01 बनी हुई है और रिकवरी दर 98.6 फीसदी है।

विगत 24 घंटे में हुई एक लाख 89 हजार 744 सैम्पल की टेस्टिंग में 62 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया, जबकि 13 जनपदों में इकाई अंक में मरीज पाए गए। वर्तमान में प्रदेश में एक्टिव कोविड केस की संख्या 419 रह गई है। यह सतर्कता और सावधानी बरतने का समय है। थोड़ी सी लापरवाही संक्रमण को बढ़ाने का कारक बन सकती है।

कक्षा 9 से कक्षा 12 तक के छात्र-छात्राओं को आज, 16 अगस्त 2021 से टीचिंग कार्यों के लिए सप्ताह में 5 दिन, शनिवार व रविवार को छोड़कर बुलाया जाएगा। स्कूल दो पालियों में खुलेंगे – सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक और दोपहर 12.30 बजे से शाम 4.30 बजे तक। दोनो ही पालियों में 9वीं से 12वीं तक के छात्र-छात्राओं को कक्षा/सेक्शन में छात्रों की कुल संख्या के अधिकतम 50 फीसदी ही एक पाली में कक्षाएं ले पाएंगे, जबकि शेष 50 फीसदी दूसरी पाली में सम्मिलित होंगे। स्कूलों को परिसर में सैनेटाइजर, हैंडवाश, थर्मलस्कैनिंग, पल्स ऑक्सीमीटर और फर्स्ट ऐड की व्यवस्था करनी होगी। किसी स्टूडेंट, टीचर या स्टाफ में खासी, जुकाम, बुखार के लक्षण होंगे तो उन्हंथ वापस भेज दिया जाएगा। सभी स्टूडेंट, टीचर या स्टाफ को हैंडवाश या सैनिटाईज करने के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा। स्कूल बस को हर दिन सैनेटाइज करना होगा। कक्षाओं में छात्रों को कोविड प्रोटोकाल के साथ बैठने की अनुमति होगी। नगरीय इलाके के स्कूलों को नगर निगम/पालिका और ग्रामीण इलाकों में ग्राम पंचायत द्वारा प्रत्येक दिन स्कूल खुलने से पूर्व, हर पालि के बाद और सप्ताह में हर शनिवार को स्कूलों को सैनिटाईज करने की व्यवस्था करनी होगी। राज्य के सभी जनपदों के जिला विद्यालय निरीक्षक और मण्डल में संयुक्त शिक्षा निदेशक सभी दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करेंगे।

उत्तर प्रदेश की तरह ही आंध्र प्रदेश सरकार ने भी आज, 16 अगस्त से स्कूलों को खोले जाने की अनुमति दी थी। जबकि, महाराष्ट्र में स्कूलों को कल, 17 अगस्त 2021 से खोला जाना है। राज्य सरकार में शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ द्वारा साझा की गयी जानकारी के अनुसार, ग्रामीण क्षेत्रों में 5वीं से 8वीं तक के स्टूडेंट्स और शहरी क्षेत्रों में 8वीं से लेकर 12वीं तक स्टूडेंट्स को स्कूलों में बुलाया जा सकेगा। दूसरी तरफ, राजस्थान और तमिल नाडु में स्कूलों को सीनियर कक्षाओं, 9वीं से लेकर 12वीं तक के लिए, 1 सितंबर 2021 से खोले जाने की उम्मीद मीडिया रिपोर्ट्स में लगाई जा रही है। वहीं, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखण्ड, लक्षदीप, पुदुचेरी, नागालैंड, छत्तीसगढ़ और हिमाचल प्रदेश में स्कूलों को अगस्त के पहले सप्ताह से ही खोला जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *