UP के 9 जिले हुए कोरोना मुक्त : आज 20 नए कोरोना संक्रमित

यूपी में कोरोना वायरस का खतरा अभी टला नहीं है। शुक्रवार को 20 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। जबकि गुरुवार को यूपी में 34 नए कोरोना मरीज मिले थे, जिसमें से 50 रिकवर हुए थे। प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या तीन रही। इनमें से गाजीपुर, हरदोई व महाराजगंज के एक-एक संक्रमित रहे। अलीगढ़,अमेठी,बदायूं, एटा, हाथरस, पीलीभीत, महोबा, सीतापुर और प्रतापगढ़ में कोरोना के सक्रिय मामले शून्य है।

डेल्टा प्लस स्ट्रेन के फैलने का खतरा
दूसरे राज्यों से लौट रहे यात्री लगातार कोरोना पॉजिटिव निकल रहे हैं। ऐसे में वायरस के डेल्टा प्लस स्ट्रेन के फैलने का खतरा बढ़ रहा है। गुरुवार को मुंबई से लौटे 11 यात्रियों में कोरोना वायरस मिला है। पॉजिटिव आएं सभी यात्रियों के जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए सैम्पल भेज दिए गए हैं। इससे पहले केरल से आया परिवार कोरोना संक्रमित मिला था।

केजीएमयू भेजा गया 11 यात्रियों का सैम्पल

गुरुवार को मुंबई से आई लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस ट्रेन चारबाग रेलवे स्टेशन पर पहुंची। इसमें करीब 200 यात्री थे, जो चारबाग स्टेशन पर उतरे। इस दौरान जांच से बचने के लिए बड़ी संख्या में यात्री चारबाग जंक्शन होते हुए बाहर चले गए। स्टेशन पर मौजूद स्वास्थ्य विभाग की टीम उनका कोरोना टेस्ट नहीं कर सकी। इस दौरान स्वास्थ्य कर्मी केवल 70 यात्रियों का ही एंटीजन टेस्ट कर सके, जिसमें मुम्बई से आए 11 यात्रियों में कोरोना वायरस पाया गया। सभी का आरटीपीसीआर सैम्पल लेकर केजीएमयू भेजा गया है। इनके सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग भी कराई जा रही है।

प्रदेश के 9 जनपद कोरोना मुक्त

प्रदेश में अलीगढ़, अमेठी,बदायूं, एटा, हाथरस, पीलीभीत, महोबा, सीतापुर और प्रतापगढ़ में कोरोना के सक्रिय मामले शून्य है। यानी यहां पर कोरोना के एक भी मरीज नहीं रह गए हैं। इसके अलावा 56 जिलों में गुरुवार को एक पॉजिटिव केस नहीं मिला है।

बाहर से आने वाले यात्रियों को क्वारंटाइन रहने की सलाह

जिन राज्यों में साप्ताहिक संक्रमण दर 3 फीसदी तक है, वहां से आने वाले लोगों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य है। इसके अलावा यदि वैक्सीन की दोनों डोज का प्रमाणपत्र है, तो जांच की जरूरत नहीं है। लेकिन, बाहर से आने पर सात दिन क्वारंटाइन रहने की सलाह दी गयी है। इन राज्यों में मेघालय, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, महाराष्ट्र, गोवा, उड़ीसा, आंध्रप्रदेश, मिजोरम, केरल आदि हैं।

लखनऊ में शुरु हुई फोकस टेस्टिंग
लखनऊ में गुरुवार को फोकस टेस्टिंग शुरू की गई। इस दौरान ओपीडी में आने वाले मरीजों का एंटीजन टेस्ट किया गया। बलरामपुर अस्पताल में ओपीडी में इलाज के लिए आए 5 मरीजों में वायरस की पुष्टि हुई। राजधानी में फोकस टेस्टिंग कर 3 हजार लोगों की जांच की गई। प्रदेश में गुरुवार तक 5 करोड़ 21 लाख 43 हजार 250 का वैक्सीनेशन कराया जा चुका है।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट
राजधानी लखनऊ के सिविल अस्पताल के निदेशक डॉ सुभाष सुंदरियाल ने बताया कि हमें दूसरे राज्यों से रहे यात्रियों पर फोकस करना होगा। हम उन्हें बिना टेस्ट किए रेलवे स्टेशन से बाहर नहीं जाने दे सकते। फोकस टेस्टिंग पर जोर जरुरी है। तीसरी लहर का खतरा साफ मंडरा है,सतर्कता से ही बचाव का रास्ता निकल सकता है।प्रदेश में हमने स्थितियों को नियंत्रण में रखा है पर आगे भी इसे बरकरार रखना होगा।पॉजिटिव केस की जीनोम सिक्वेंसिंग और वैक्सीनेशन को तेजी से बरकरार रखना होगा।

24 घंटे में प्रदेश के 7 बड़े शहरों में आएं कुल मामले

लखनऊ – पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुए 6,रिकवर हुए 3, एक्टिव केस – 60,

प्रयागराज – पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुए 1,रिकवर हुए 05, एक्टिव केस – 44,

वाराणसी – पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुए 6,रिकवर हुए 0, एक्टिव केस – 32,

गोरखपुर – पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुए 3,रिकवर हुए 1, एक्टिव केस – 19,

मेरठ – पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुए 0,रिकवर हुए 3, एक्टिव केस – 14,

कानपुर – पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुए 2,रिकवर हुए 1, एक्टिव केस – 37,

आगरा – पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुए 1,रिकवर हुए 0, एक्टिव केस -8

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *