लखनऊ में फिर बढ़ने लगे मामले

internet

लखनऊ । यूपी में बुधवार को कोरोना रोगियों की संख्या में मामूली गिरावट दर्ज की गई। कोरोना से संक्रमित 61 नए रोगी मिले। बीते मंगलवार को 65 मरीज मिले थे। वहीं राजधानी में मरीजों की संख्या में हुई बढ़ोतरी ने चि‍ंता बढ़ा दी है। यहां 17 नए मरीज मिले हैं। उधर 24 घंटे पहले यहां 11 रोगी मिले थे। दो जिलों में फिर से कोरोना संक्रमण वापस लौटा है। इसमें फर्रुखाबाद व अमरोहा शामिल है। नए मिले मरीजों के मुकाबले कम मरीज स्वस्थ हुए। 45 रोगी ठीक हुए हैं। अब सक्रिय केस बढ़कर 686 हो गए हैं।

प्रदेश में 2.46 लाख लोगों का कोरोना टेस्ट कराया गया। अब तक कुल 6.64 करोड़ लोगों की कोरोना जांच कराई जा चुकी है। पाजिटिविटी रेट 0.02 प्रतिशत है। रिकवरी रेट 98.6 फीसद है। दो और रोगियों की मौत के साथ अब तक कुल 22767 मरीजों की जान यह खतरनाक वायरस ले चुका है। अब तक कुल 17.08 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं और इसमें से 16.85 लाख रोगी स्वस्थ हो चुके हैं। नौ जिलों में कोरोना का एक भी रोगी नहीं है। इसमें अलीगढ़, अमेठी, बदायूं, एटा, हाथरस, महोबा, पीलीभीत, प्रतापगढ़ और सीतापुर शामिल हैं। राजधानी में केरल से वापस लौटी स्टाफ नर्स सहित परिवार के चार लोगों के संक्रमित पाए जाने के बाद सतर्कता बढ़ा दी गई है। हवाई अड्डा, बस व रेलवे स्टेशन पर सख्ती बढ़ा दी गई है।

पिछले तीन दिनों से कोरोना के बढ़ते मामलों ने स्वास्थ्य विभाग समेत सरकार व स्थानीय निवासियों की चिंता बढ़ा दी हैं। बीते 24 घंटे में 17 नए संक्रमित मिलने से राजधानी में खलबली मच गई है। इससे पहले मंगलवार को 11 व सोमवार को छह मरीज पॉजिटिव पाए गए थे। बीते सिर्फ 48 घंटों की ही बात करें तो इस दौरान 28 संक्रमित सामने आ चुके हैं। वहीं केरल से लौटे लोगों के संपर्क में आए 122 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद से उन्हें अगले पांच दिनों तक घर से बाहर नहीं निकलने का आदेश दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार 24 घंटे में आठ मरीजों को संक्रमण मुक्त घोषित किया गया है। अब लखनऊ में सक्रिय मरीजों की संख्या 57 पहुंच गई है। जोकि दो दिन पहले 35 के भी नीचे आ चुकी थी। हालांकि एक जुलाई के बाद से अब तक वायरस से कोई मौत नहीं होने से बड़ी राहत महसूस की जा रही है।

अगले दो हफ्ते संक्रमण के लिहाज से बहुत अहम: विशेषज्ञों के अनुसार अगले दो हफ्ते संक्रमण के लिहाज से बहुत अहम होंगे। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग ने एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन व बस स्टेशन, एक्सप्रेस-वे व हाईवे पर निगरानी, जांच व सतर्कता बढ़ाने का दावा किया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. मनोज अग्र्रवाल ने बताया कि रोजाना 18 से 20 हजार नमूने जांचे जा रहे हैं। इस दौरान लोगों को बेहद संजीदा रहने की जरूरत है। जरा सा लक्षण दिखने पर अपनी कोरोना जांच जरूर कराएं। गैर जरूरी यात्राओं को रद कर दें। मास्क से मुंह व नाक को अच्छी तरह ढककर रखें। शारीरिक दूरी व हैंड हाईजीन का पूरी तरह पालन करें। अपनी बारी आने पर वैक्सीन अवश्य लगवाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *