कोरोना को लेकर बढ़ी चिंता

हेल्थ मिनिस्ट्री ने कहा- केरल समेत 7 राज्यों के 22 जिलों में पिछले 4 हफ्तों से बढ़ रहा संक्रमण, इसे हल्के में न लें

कोरोना मरीजों की कम होती संख्या के बीच कुछ राज्यों में नए केस चिंता बढ़ा रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने मंगलवार को बताया कि 7 राज्यों के 22 जिलों में पिछले 4 हफ्तों से संक्रमण की दर बढ़ रही है। यह हमारे लिए चिंता की बात है। इसे हल्के में न लें।

अग्रवाल ने कहा कि केरल के 7, मणिपुर के 5 और मेघालय के 3 राज्यों समेत कुल 7 राज्यों के 22 जिलों में बढ़ता संक्रमण चिंतनीय है। इस पर नियंत्रण के लिए केंद्र सरकार राज्यों के साथ मिलकर काम कर रही है। हमने इन राज्यों से संपर्क भी किया है और जरूरी दिशा-निर्देश दिए हैं।

अग्रवाल ने आगे बताया कि 12 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के 54 जिले ऐसे हैं, जहां 26 जुलाई तक पॉजीटिविटी रेट 10% के हिसाब से बढ़ी है। देश में अभी भी 62 जिले ऐसे हैं जहां रोजाना 100 से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। हालांकि, ये मामले इन जिलों के कुछ ही क्षेत्रों में सीमित हैं।

उन्होंने कहा कि वैश्विक नजरिए से देखें तो महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। दुनिया भर में मामलों की संख्या में वृद्धि हुई है, जो चिंता का विषय है। हमें सख्ती के साथ वायरस के प्रसार को रोकने पर काम करना होगा।

कोरोना के खिलाफ 93% प्रभावी है कोवीशील्ड, 98% तक घट जाती है मौत की आशंका
कोरोना संक्रमण के खिलाफ कोवीशील्ड वैक्सीन 93% प्रभावी है। इसे लेने के बाद मौत की आशंका 98% तक घट जाती है। आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज (AFMC) की एक स्टडी में यह जानकारी निकलकर सामने आई है। निति आयोग के सदस्य-स्वास्थ्य डॉ. वी के पॉल ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी है।

डॉ. पॉल ने बताया कि महामारी की दूसरी लहर के दौरान कोरोना के डेल्टा वैरिएंट पर वैक्सीन को लेकर अच्छी रिपोर्ट मिली है। आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज (AFMC) ने 15 लाख डॉक्टर्स और हेल्थकेयर वर्कर्स पर यह स्टडी की है।

अगस्त में मिल सकते हैं 15 करोड़ डोज
नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने बताया कि उम्मीद है कि अगस्त में 15 करोड़ वैक्सीन के डोज मिल सकेंगे। पॉल ने कहा कि कोई भी वैक्सीन संक्रमण के खिलाफ 100% गारंटी नहीं देता। हां इतना जरूर है कि यह आपको अस्पतालों में भर्ती होने के जोखिम से जरूर बचाता है। पॉल ने स्कूल खोले जाने को लेकर कहा कि इसका निर्णय खुद राज्य सरकारों को लेना है। कई राज्य ऐसा कर भी रहे हैं।

बच्चों की वैक्सीन को लेकर स्टडी जारी है
पॉल ने कहा कि बच्चों के टीके को लेकर कोवैक्सिन की स्टडी जारी है। जायडस कैडिला ने अपनी रिसर्च डेटा सबमिट कर दी है। बायोलॉजिकल ई, नोवावैक्स को भी बच्चों की दवा के लिए केंद्र सरकार सहयोग कर रही है।

अब तक 44.19 करोड़ डोज दिए गए

  • हेल्थकेयर वर्कर्स: 1.80 करोड़
  • फ्रंटलाइन वर्कर: 2.88 करोड़
  • 45 साल से ऊपर: 24.60 करोड़
  • 18 प्लस: 14.91 करोड़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *