विद्यालय व कोचिंग संस्थान खोलने हेतु किया गया धरना-प्रदर्शन

SS New 24, Raebareli/26 july 2021

रायबरेली स्कूल मैनेजर्स एसोसिएशन एवं रायबरेली कोचिंग एसोसिएशन द्वारा संयुक्त रूप से सांकेतिक धरना स्थानीय शहीद चौक पर दिया गया तदुपरान्त ज्ञापन उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ को सम्बोधित उपजिलाधिकारी सदर अंशिका दीक्षित को सौंपा। दिये गये ज्ञापन में लिखा गया है कि कोरोना आपदा के कारण विगत 17 माह से समस्त विद्यालय एवं कोचिंग सेन्टर बन्द चल रहे है। विद्यालयों के बंद होने से जहाँ बच्चों की शिक्षा बुरी तरह से प्रभावित हो रही है, वहीं विद्यालयों एवं विद्यालयों में कार्य कर रहे शिक्षक/ शिक्षिकाओं के जीवन भी अस्त-व्यस्त हो गया है। कक्षाएँ संचालित न होने के कारण अभिभावक, विद्यालयों में आनलाइन शिक्षा का लाभ तो ले रहे हैं, किन्तु फीस जमा करने में आनाकानी कर रहे हैं।

इस कारण वित्तविहीन मान्यता प्राप्त विद्यालय संचालकों के सामने अत्यन्त गम्भीर समस्या उत्पन्न हो गई है, शिक्षक शिक्षिकाओं का वेतन निकल पाना बहुत मुयिकल हो रहा है, अब जब कि सभी कुछ खुल गया है और किसी भी प्रकार की समस्या भी सुनाई और दिखाई नहीं दे रही है, ऐसे में जुनियर और प्राइमरी कक्षाआंे को भी संचालित किए जाने की आवश्यकता है।

रायबरेली स्कूल मैनेजर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष गौरव सिंह ने कहा कि इस लाकडाउन की अवधि में मासिक फीस न आने के कारण शिक्षकों एवं कर्मचारियों के वेतन के लिए सरकार राहत पैकेज की घोषणा करें एवं विद्यालय वाहनों के लिए एक वर्ष की किस्त माफी और बीते 17 माह का ब्याज माफ किया जाए।

रायबरेली कोचिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष अमित शुक्ला ने कहा कि सभी स्कूलों एवं कोचिंगों में विद्युत बिल माफ किये जायें। उपाध्यक्ष अमित श्रीवास्तव ने कहा कि राइट टू एजूकेशन के अन्तर्गत पढ़े हुए बच्चों की पिछले वर्ष की फीस अतिशीघ्र दी जाए।

ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से प्रभात सिंह, सूरज शुक्ला, आलोक श्रीवास्तव, प्रभात चौधरी, धीरज श्रीवास्तव आदि लोग उपस्थित रहे।

2 thoughts on “विद्यालय व कोचिंग संस्थान खोलने हेतु किया गया धरना-प्रदर्शन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *