रायबरेली में डोर स्टेप डिलिवरी सिस्टम लागू:1145 कोटे की दुकानों के लिए 6 ठेकेदार तय, 58 लाख जमानत जमा करनी होगी जमानत

रायबरेली में गोदामों पर राशन उठाने में मनमानी रोकने के लिए डोर स्टेप डिलिवरी सिस्टम लागू किया गया है। डीएसओ विमल कुमार शुक्ला ने बताया कि 1145 कोटे की दुकानों के लिए छह ठेकेदार तय किए गए हैं।

इन ठेकेदारों को काम शुरू करने से पहले 58 लाख जमानत के तौर जमा करना होगा। डीएसओ ने सभी एआरओ और आपूर्ति निरीक्षकों को ठेकेदारों से संपर्क करके ट्रकों की क्षमता के अनुसार दुकानों की ग्रुपिंग के आदेश दिए हैं।

इन ट्रांसपोर्ट को दी गई जिम्मेदारी
जिले में जनता ट्रांसपोर्ट को छतोह, शिवगढ़ व खीरों, जेएमडी रोड लाइंस को डीह, सलोन, ऊंचाहार, सांई ट्रांसपोर्ट को दीनशाह गौरा, शारदा रोड लाइंस को डलमऊ, जगतपुर, सरेनी, लालगंज, रमेशचंद्र मौर्या को बछरावां, महराजगंज, अमावां, राही, हरचंदपुर और आद्या प्रसाद जायसवाल को सतांव ब्लॉक की जिम्मेदारी दी गई है।

ग्रामीण क्षेत्रों में लागू नहीं थी व्यवस्था
शहरी क्षेत्र में एफसीआई गोदाम से सीधे कोटे की दुकानों पर राशन पहुंचाया जा रहा है, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में अब तक यह व्यवस्था लागू नहीं हो सकी थी। शासन ने हर हाल में जून से सीधे कोटे की दुकानों पर राशन पहुंचाने के आदेश दिए हैं।